ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा रचित पुस्तक “Listening, Learning & Leading” पुस्तक का विमोचन
August 11, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चेन्नई के कलैवनार अरंगम सभागार में माननीय उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा रचित पुस्तक “Listening, Learning & Leading” पुस्तक का विमोचन किया और नायडू के जीवन को सबके लिए अनुकरणीय बताया। इस अवसर पर तमिल नाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित, मुख्यमंत्री ई. पलनिसामी, उप-मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम, प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक एम. एस. स्वामीनाथन, प्रसिद्ध अंतरिक्ष वैज्ञानिक के. कस्तूरीरंगन, विचारक एस. गुरुमूर्ति, फिल्म जगत की प्रमुख हस्ती रजनीकांत, प्रसिद्ध बैडमिंटन खिलाड़ी एवं कोच पुलेला गोपीचंद, एवं केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सहित कई गणमान्य हस्तियां भी मौजूद थीं।
शाह ने इस अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि “Listening, Learning & Leading” न तो एक पुस्तक का शीर्षक है और न ही माननीय उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू के दो साल के कार्यकाल का डॉक्यूमेंटेशन, बल्कि यह उनके पूरे जीवन का एक व्याख्यान है कि जीवन में हमें किस तरह सुनना, सीखना और समाज का नेतृत्व करना चाहिए और इसका उदाहरण वेंकैया जी ने हम सबके सामने इस पुस्तक के माध्यम से रखा है। विद्यार्थी जीवन से लेकर उप-राष्ट्रपति तक के रूप में, वेंकैया जी का आज तक का जीवन सभी दलों के युवा कार्यकर्ताओं के लिए आदर्श व अनुकरणीय है।
वेंकैया नायडू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए माननीय गृह मंत्री ने कहा कि नेल्लोर, आंध्र प्रदेश के एक साधारण किसान परिवार में जन्म लेकर वे बहुत कम उम्र में ही आरएसएस एवं विद्यार्थी परिषद् की विचारधारा से जुड़ गए और उसके आधार पर उन्होंने जिस तरह से राज्य और देश के विकास में अपना योगदान दिया, यह हम सबने देखा है। शाह ने कहा कि विद्यार्थी परिषद् के एक युवा कार्यकर्ता के रूप में, एक छात्र नेता के रूप में, एक लोकप्रिय विधायक के रूप में, आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा के तौर पर एक लड़ाके के रूप में जब वे 17 महीने तक कारावास में रहे थे और भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में वेंकैया नायडू ने जीवन के संघर्ष भरे कई पड़ावों को सफलतापूर्वक पार किया है। आज वे देश के उप-राष्ट्रपति और राज्य सभा के सभापति के रूप में राज्य सभा और समग्र राष्ट्र का मार्गदर्शन कर रहे हैं। माननीय गृह मंत्री ने कहा कि मैं इस मंच से श्री वेंकैया जी की सदन के संचालन की कुशलता को साधुवाद देना चाहता हूँ।
शाह ने कहा कि आज “Listening, Learning & Leading” पुस्तक का विमोचन हुआ है। यह पुस्तक आने वाले समय में बनने वाले राज्य सभा के सभापति और एक उप-राष्ट्रपति देश के साथ किस तरह संवाद करता है, इसके लिए तो मार्गदर्शन करेगा ही लेकिन राजनीतिक क्षेत्र में काम करने वाले किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता के लिए भी यह पुस्तक मार्गदर्शक की भूमिका निभाएगा। मैं माननीय उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू को आने वाले कार्यकाल के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूँ। वर्षों तक वे इसी तरह देश का मार्गदर्शन करते रहें और समाज जीवन में चेतना लाते रहें।