ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
नाबालिक लड़कियों की हत्या में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया
February 4, 2019 • Admin

रिपोर्ट: सुनहरा

  

 

 

लखीमपुर-खीरी के मोहम्मदी थाना क्षेत्र में लगातार पांँच लड़कियो की हत्याओं की घटनायें घटित हुई जिसमंे पसगवा थाना क्षेत्र के ग्राम जीराबोझी में दिनांक 2 फरवरी को दो नाबालिग लड़कियों के शव बिजली के खंभे से लटकते हुए पाए गए थे। जिस पर पुलिस ने खुलासा करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

सोमवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस लाइन सभागार में पुलिस अधीक्षक पूनम ने बताया कि पसगवांँ थाना क्षेत्र के जीरा बोझी गांव की दो नाबालिक लड़कियां अंजनी और राजनंदनी की गला घोंटकर हत्या करके हाई टेंशन बिजली के हाई टेंसन खम्भे से दुपट्टे में बांधकर टांग दिया गया था। जिस के संबंध में वादिनी मालेन्द्री देवी पत्नी लक्ष्मण निवासिनी जीराबोझी ने थाना पसगवां में लिखित प्रार्थना पत्र के आधार पर मुकदमा पंजीकृत करवाया था।

पूरे मामले की छानबीन प्रभारी निरीक्षक पसगवां को सुपुर्द हुई। प्रकाश में आए अभियुक्त राम रीतल पुत्र पहलाद, नेतराम पुत्र भाई लाल और राहुल पुत्र हरिश्चंद्र निवासी गण जीराबोझी थाना पसगवां को गिरफ्तार किया गया। इन लोगों ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया की राम रीतल नेतराम के राजनंदनी और राहुल के अंजनी के साथ में अवैध संबंध थे।

1 तारीख को अंजनी व राजनंदनी बकरियां चराने गई थी जहां आनंद को गुटखा दे रहा था और बातचीत कर रहा था, जिसे राजनंदिनी के भाई आशीष ने देख लिया था आशीष ने घर जाकर राहुल को यह सब बातें बताई। तब राहुल नेतराम और रामरीतल एक साथ उस स्थान पर गए जहां पर राजनंदिनी और अंजनी बकरियां चरा रही थी वहाँं जाकर इन लोगों ने अन्जनी को मारा पीटा व राम रीतल ने अंजनी की गला घोंटकर हत्या कर दी। राजनंदनी यह घटना देखकर जब भागने लगी तब राहुल और नेतराम ने राजनंदनी को दौड़ा कर पकड़ लिया और गन्ने के खेत में उसे गिरा दिया। नेतराम ने राजनंदनी की गला घोंटकर हत्या कर दी तब राहुल राज नंदिनी के पैर पकड़े हुए था।

उक्त घटना के पश्चात राम रीतल अंजनी के शव को कंधे पर लेकर आया और तीनों लोगों ने मिलकर राजनंदनी व अंजनी के शव को उनके दुपट्टों से हाईटेंशन टावर से लटका कर आत्महत्या का रूप दिया। पुलिस ने तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाही करते हुए जेल भेज दिया। इस तरह नाबालिक लड़कियों की हत्या का खुलासा पुलिस ने 2 दिन के अंदर कर दिया। घटनास्थल से पुलिस ने दो दुपट्टे, दो जोड़ी चप्पल, एक कंघा, एक हेयर बैंड और गुटखा रैपर बरामद किया।

गिरफ्तारी करने वाली टीम में सत्येंद्र कुमार सिंह थाना प्रभारी पसगवां, उप निरीक्षक राकेश कुमार, उप निरीक्षक सुनील कुमार, उपनिरीक्षक मानसिंह पाल, हेड कांस्टेबल लक्ष्मीकांत वर्मा, हेड कांस्टेबल वीर सिंह गौर तथा हेड कांस्टेबल सत्य प्रकाश पटेल के साथ क्राइम ब्रांच की टीम में सर्वेश पाल, देवेंद्र यादव, पुष्पेंद्र यादव, विनोद कुमार, अजीत यादव, परीक्षित चैरसिया पुलिस टीम में शामिल रहे।