ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
पोषण एवं प्राकृतिक स्वास्थ्य विज्ञान संघ के तत्वाधान में करियर कॉन्फ्रेंस का आयोजन
September 18, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

15 सितंबर को मिश्रीलाल आर्य कन्या इंटर कॉलेज के परिसर में एक कैरियर कॉन्फ्रेंस होम साइंस एन इमर्जिंग करियर विषय पर करियर कॉन्फ्रेंस का आयोजन पोषण एवं प्राकृतिक स्वास्थ्य विज्ञान संघ के तत्वाधान में किया गया। इस कॉन्फ्रेंस में एन एन एच एस ए की राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर निक्की डबास, कृषि विज्ञान केंद्र हमीरपुर से गृह वैज्ञानिक डॉक्टर फूल कुमारी, गृह विज्ञान विषय की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर दीपिका बरनवाल आर्य महिला पीजी कॉलेज बीएचयू से एवं डॉक्टर गीतिका वर्मा जिला चिकित्सालय अंबेडकरनगर से उपस्थित थी। तो वहीं आदर्श कन्या पीजी कॉलेज की उप प्राचार्या डॉक्टर करुणा वर्मा, हिंदी विभाग से डॉक्टर मनीराम वर्मा, गृह विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉक्टर प्रेमलता रंजन जिला अस्पताल अंबेडकर नगर से डाइटिशियन तृप्ति धवन आदि स्पीकर एवं मुख्य अतिथियों की उपस्थिति में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ।

इस कॉन्फ्रेंस में जिले के विभिन्न विद्यालयों महाविद्यालयों के गृह विज्ञान विभाग एवं अन्य विभागों के छात्र छात्राओं ने बढ़-चढ़कर भागीदारी की। इतना ही नहीं इस कॉन्फ्रेंस में अन्य नगरों एवं महानगरों से भी प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया यह स्वर्णिम अवसर जिसमें बच्चों को होम साइंस की महत्व उसमें रोजगार के अवसरों करियर मेकिंग एवं व्यक्तित्व के निखार के लिए जानी-मानी हस्तियों एवं विद्वानों द्वारा मार्गदर्शन की प्राप्ति हुई। जैसे कि इस कार्यक्रम में डॉक्टर निक्की डबास जी ने गृह विज्ञान में अनुसंधान के विभिन्न क्षेत्रों विभिन्न संस्थाओं एवं विभिन्न अवसरों का जिक्र किया तो वही डॉक्टर फूल कुमारी ने भी गृह विज्ञान विषय के संस्थाओं अवसरों महत्ता एवं प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला।

बीएचयू से आई हुई डॉक्टर दीपिका बरनवाल ने बच्चों को पोषण माह से संबंधित बातें बताएं एवं भविष्य के लिए तत्पर रहने के लिए जीवन के कुछ महत्वपूर्ण मंत्र दिए जिले से उपस्थित डॉक्टर गितीका वर्मा, डॉक्टर करुणा वर्मा, डॉ प्रेमलता रंजन, डॉक्टर मनीराम वर्मा ने भी बच्चों को जीवन के प्रति सजग रहने उद्देश्यों को समझने एवं जीवन के विभिन्न पहलुओं में गृह विज्ञान की उपयोगिता से परिचित कराते हुए उन्हें उनके अस्तित्व के लिए भी प्रेरित किया। साथ ही इस कॉन्फ्रेंस का विचार कर उसे साकार रूप देने वाली डायटिशियन तृप्ति धवन ने भी अपने जीवन के पहलुओं से लोगों को परिचित कराया एवं इस कॉन्फ्रेंस को करने का विचार कैसे आया यह बताते हुए उन्होंने अपने जिले समाज तथा अगल-बगल के लोगों में होम साइंस के प्रति गलत धारणा भ्रांतियां एवं दुर्भावना को अभिप्रेरित करने वाला कारक बताया। उन्होंने बताया की किस प्रकार उन्हें स्वयं अपने जीवन में लोगों से गृह विज्ञान पढ़ने के लिए अलग तरीकों के बर्ताव भेदभाव जैसे विचारों का सामना करना पड़ा एवं साथ ही बच्चों में गृह विज्ञान के लिए नीरसता और जागरूकता की कमी को उन्होंने इस कॉन्फ्रेंस के विचार का उद्गम बताया।

जैसा कि हम हमारे समाज में देखते आए हैं की गृह विज्ञान एक विषय की तरह तो बहुत ही पहले से चला आ रहा है किंतु अभी भी लोगों में इसके प्रति बहुत सारी भ्रांतियां हैं। खाना बनाना, कपड़े धुलना, बुनाई करना, सब्जी काटना, घर की सजावट इस प्रकार की चीजों को ही लोग गृह विज्ञान मानते हैं किंतु ऐसा नहीं है इस कांफ्रेंस के माध्यम से सभी स्पीकर्स, गेस्ट ने यही बात बच्चों तक पहुंचानी चही। बच्चों में  जागरूकता का विकास किया एवं क्षेत्र में यह अपनी तरह का पहला कार्यक्रम रहा इस कार्यक्रम की सफलता हमें सिर्फ एक उपलब्धि नहीं बल्कि उज्जवल भविष्य की ओर इशारा करती हैं। संपूर्ण जिले में इस कार्यक्रम की प्रशंसाए की जा रही है। सभी लोगों ने इस कार्यक्रम को खूब सराहा। इस कार्यक्रम की संपन्नता वरिष्ठ पत्रकारों,  वैज्ञानिको, शिक्षकों एवं जिले के गणमान्य नागरिकों के उपस्थिति में संपन्न हुई।