ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
भाजपा ने जारी किया अपना चुनावी घोषणा पत्र संकल्पित भारत, सशक्त भारत
April 8, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

 

लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस के बाद भारतीय जनता पार्टी ने भी अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। इस घोषणा पत्र को संकल्पित भारत, सशक्त भारत नाम दिया गया है। इस चुनावी घोषणा पत्र का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, अरूण जेटली, सुषमा स्वराज ने किया। भाजपा ने इस चुनावी घोषणा पत्र में किसानों का खास ख्याल रखने का दावा कर रही है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने इस घोषणा पत्र को झांसा पत्र बताया।
सोमवार को दिल्ली के दीनदयाल उप्याध्याय मार्ग स्थित भाजपा राष्ट्रीय कार्यालय में भाजपा ने अपना 2019 का चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया है। भाजपा के इस चुनावी घोषणा पत्र में आतंकवाद पर जीरो टॉलरेंस, किसानों को पेंशन, छोटे दुकानदारों को पेंशन, 2022 तक स्वच्छ गंगा, सैनिकों का कल्याण सरीखे मुद्दे रखे गए हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले पांच साल में देश के लोगों ने उनपर विश्वास रखा है। उन्होंने कहा कि इस संकल्प पत्र में जन के मन की बात है। उन्होंने कहा कि भाजपानीत सरकार अगले पांच वर्षो में इसके लिए आधारशिला रखेगी। यहां लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा का घोषणापत्र जारी होने के मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार ने बीते पांच वर्षो में लोगों की जरूरतों को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित किया और सरकार को अगले पांच वर्ष लोगों की इन आकांक्षाओं को पूरा करने में लगेंगे।
राजनाथ सिंह ने कहा कि सभी किसानों को 6 हजार रुपए का लाभ मिलेगा। किसानों पर 25 लाख करोड़ रुपये अगले पांच साल के दौरान खर्च किया जाएगा। 1 लाख तक का क्रेडिट कार्ड पर जो लोन मिलता है, उसपर 5 साल तक ब्याज जीरो फीसदी होगा। उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर पर सभी संभावनाओं को तलाश करेंगे। प्रयत्न होगा कि जल्द से जल्द सौहर्दपूर्ण वातावरण में निर्माण हो जाए। सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल को संसद के दोनों सदनों से पास कराएंगे और लागू करेंगे। किसी राज्य की सांस्कृतिक और भाषाई पहचना पर आंच नहीं आने देंगे।
तो वहीं दूसरी ओर भाजपा द्वारा घोषणा पत्र जारी करते ही कांग्रेस ने भी इस पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा के घोषणा पत्र को झांसा पत्र बताया है। पांच साल में मात्र काम नाम पर बहाना बनाया गया है। सुरजेवाला ने कहा कि किसान को लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा देने का वादा किया गया था, लेकिन आज फिर किसान की आय डबल करने का वादा कर डाला। लेकिन सच्चाई यह है कि कृषि की मौजूदा विकास दर 2.9 फीसदी है और इस लिहाज से किसानों की आय दोगुना करने में 28 साल लग जाएंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि किसान फसल की कीमत के लिए जगह-जगह थोकर खा रहे हैं।
जबकि कांग्रेस के नेता अहमद पटेल ने कांग्रेस के घोषणा पत्र की कॉपी दिखाते हुए कहा कि हमारे घोषणा पत्र में जनता का फोटो बड़ा है और उनके घोषणा पत्र में पूरे कवर में प्रधानमंत्री का फोटो लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा इसकी बजाए जनता के लिए एक अपना माफी नाम पेश कर देना चाहिए था। इसके माध्यम से जनता को वापस छलने का प्रयास किया गया है।
कुल मिलाकर भाजपा का चुनावी घोषणा पत्र जारी होते ही आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। हालांकि यह घोषणा पत्र जनता को कितना पसंद आते हैं यह तो जनता ही तय करेगी। और जनता किसको पसंद करेगी यह आगामी 23 मई को ही पता चल पाएगा।