ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
लूट करके नई गाड़ी खरीदकर गया ससुराल और पकड़े गए लूटेरे
July 3, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

25 जून को दिल्ली के नरेला मंडी के पास 18 लाख की हुई लूट के मामले को सुलझाते हुए दिल्ली पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की। दिल्ली की बाहरी-उत्तरी जिला पुलिस ने इस मामले को सुलझाते हुए दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। साथ ही इन बदमाशों के पास से लूटी गई रकम से करीब आठ लाख रुपये ओर बाकी से खरीदी गई स्विफ्ट कार सहित हथियार भी बरामद किया है। दोनों बदमाश जल्द पैसा कमाने के चक्कर मे देते थे लूट की वारदातों को अंजाम।

 

बीएसएनएल के ठेकेदारो ने किया धरना प्रदर्शन


दिल्ली के नरेला इलाके में बीते 25 जून को नरेला मंडी के पास मंडी के आढ़ती के मुनीम से 18 लाख की हुई लूट के मामले को सुलझाते हुए बड़ी कामयाबी हासिल की है। बाहरी-उत्तरी जिला नरेला थाना पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर दोनों बदमाशों को गिरफ्तार किया है। मुनीम के पैर में गोली मारकर पैसे लूटने वाले बदमाश का नाम रघुवीर है वह नजफगढ़ इलाके के बिजवासन का रहने वाला है और मूल रूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। जबकि दूसरा बदमाश दिल्ली के बेगमपुर इलाके का बताया जा रहा है। दोनों बदमाश जल्द पैसा कमाने के चक्कर मे लूट की वारदातों को अंजाम देते थे। बदमाशों की गिरफ्तारी के साथ लूटी गई रकम से दिल्ली पुलिस ने करीब आठ लाख रुपये ओर बाकी से खरीदी गई स्विफ्ट कार भी बरामद किया है। साथ ही बदमाशों के पास से हथियार बरामद किया गया है। दिल्ली पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार उसके ऊपर भी पहले तीन मामले दर्ज हैं।

 

शहर से गायब होते लोगों का रहस्य क्या है ?


दिल्ली पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार रघुवीर की निशानदेही पर इसके दूसरे साथी रोहित उर्फ बाजी को भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया। रोहित ने हीं लूट में रघुवीर की मदद की। इन्हें मंडी के ही किसी दो कर्मचारियों ने सूचना दी कि मनीराम नाम का व्यापारी अपने मुनीम के साथ बैंक से रुपये निकलवाकर मंडी जा रहे थे। रोहित और रघुवीर दोनों ने मुनीम की बाइक के आगे अपनी बाइक लगाकर उन्हें रोका और उनके पास से 18 लाख रुपए की रकम को लूटने की कोशिश की। मनीराम ओर उसके साथी ने जब लूट का विरोध किया तो रघुवीर ने उसके पैर में गोली मारी और 18 लाख रुपये छीनकर दोनों बदमाश फरार हो गए। लूट की वारदात को अंजाम देते हुए सारी घटना पास में ही लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। जिसके आधार पर नरेला थाना पुलिस ने रघुवीर नाम के मुख्य आरोपी को उसके ससुराल एटा से गिरफ्तार किया।

 

कैट्स कर्मी हड़ताल पर, परेशान दिल्ली के मरीज़


नरेला थाना पुलिस सीसीटीवी कैमरों की मदद से एक ऐसे पॉइंट पर पहुंची जहां दोनों आरोपी बिना मुंह पर कपड़ा ढके हुए आराम से खड़े थे और देखने से लग रहा था कि यह किसी का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस ने जब लोकल इंटेलिजेंस से दोनों के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि वह यहां पर लगातार आते रहे हैं और एक का नाम रघुवीर है तो दूसरे का नाम रोहित है। 

 

 


जिले के डीसीपी गौरव शर्मा ने नरेला थाने के एडिशनल एसएचओ राधेश्याम के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया और उसे तुरंत ही एटा के लिए रवाना किया। करीब 4 दिनों तक एटा में रहने के बाद दिल्ली पुलिस ने रघुवीर को गिरफ्तार किया। रोहित पर भी पहले एक रेप का मुकदमा दर्ज है जिसके चलते वह जेल जा चुका है। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि रोहित जेल से ही अपराधियों के संपर्क में आया। रोहित रघुवीर के साथ मिलकर लूट की वारदातों को अंजाम देने के लिए मोटरसाइकिल चलाने का काम करता था। वहीं इसमें एक दूसरी बात और निकल के सामने आई कि द्वारका में पिछले दिनों बदमाशों का जो सूट आउट हुआ था उसमें विकास दलाल नाम का बदमाश मारा गया था रघुवीर के उसके साथ भी अच्छे दोस्ताना संबंध थे।

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री आवास पर हुआ जबरदस्त प्रदर्शन


बहराहाल अब यह दोनों बदमाश दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है। साथ ही बदमाशों पर अब आगे की कार्यवाही की जा रही है। इसके अलावा आढती के मुनीम मनीराम की मंडी से पैसा लेकर निकलने की सूचना देने वाले लोगों को भी जल्द ही पुलिस गिरफ्तार करने का दावा कर रही है।