ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
आईबीबीआई ने कॉर्पोरेट देनदारों के लिए दिवाला और दिवालियापन की कार्यवाही की व्यक्तिगत गारंटियों के लिए विनियमों को अधिसूचित किया
November 20, 2019 • Admin

 

 

 

15 नवंबर को केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचना के बाद, कॉर्पोरेट देनदारों के लिए व्यक्तिगत देनदारों की कार्रवाई से संबंधित दि इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ़ इंडिया (आईबीबीआई) ने कॉर्पोरेट देनदारों को व्यक्तिगत गारंटियों के दिवाला और दिवालियापन कार्रवाई के लिए नियमन अधिसूचित किये।

इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड, 2016, (आईबीसी) व्यक्तिगत रूप से चरणबद्ध तरीके से लागू करने में सक्षम बनाने के लिए व्यक्तियों को तीन वर्गों में वर्गीकृत करता है - सीडी के लिए व्यक्तिगत गारंटर, पार्टनरशिप फर्मों और प्रोप्राइटरशिप फर्मों और अन्य व्यक्तियों के लिए व्यक्तिगत गारंटर। केंद्र सरकार ने 15 नवंबर, 2019 की अधिसूचना के माध्यम से 1 दिसंबर, 2019 को सीडी के लिए व्यक्तिगत गारंटर से संबंधित संहिता के प्रावधानों को लागू करने की तारीख के रूप में निर्धारित किया।

ये नियमन इनसॉल्वेंसी रिज़ॉल्यूशन शुरू करने और सीडी के लिए व्यक्तिगत गारंटरों के खिलाफ दिवालियापन की कार्यवाही की प्रक्रिया, ऐसे आवेदनों को वापस लेने, लेनदारों से दावों को आमंत्रित करने के लिए सार्वजनिक नोटिस के लिए फॉर्म आदि और आवेदन फॉर्म प्रदान करते हैं।