ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
केजरीवाल के मंत्री ने उठाए राम-कृष्ण पर सवाल
November 22, 2019 • Admin

 

 

 

केजरीवाल सरकार में समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने शुक्रवार को भगवान राम और कृष्ण की प्रामाणिकता पर सवाल उठाते हुए विवादित ट्वीट किया तो हंगामा खड़ा हो गया। ट्वीट करने के थोड़ी ही देर में हैशटैग एंटी हिंदू आप ट्रेंड करने लगा। भाजपा नेताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) से हिंदू विरोधी ट्वीट के लिए माफी मांगने की मांग की।

चुनावी सीजन में मंत्री के इस विवादास्पद ट्वीट के बाद आप पर चौतरफा हमले हुए तो बाद में मंत्री ने ट्वीट डिलीट कर अकाउंट हैक हो जाने की बात कही। दिल्ली की आप सरकार में कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने ट्वीट में लिखा, अगर यह बात प्रमाणित है कि राम और कृष्ण तुम्हारे पूर्वज हैं तो फिर उनको इतिहास में क्यों नहीं पढ़ाया जाता। पूर्वजों का कोई इतिहास होता है, जबकि इनका कोई प्रामाणिक इतिहास नहीं है। यह पौराणिक कथाएं हैं। ऐतिहासिक नहीं।

जबकि पेरियारजी का ²ष्टिकोण प्रामाणिकता और तार्किकता पर आधारित था। इस पर भाजपा के नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली सीट से सांसद हंसराज हंस ने कहा, केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा था। देश ने जवाब दिया, दिल्ली ने सातों सीटों पर भाजपा को जिताकर जवाब दिया। अब उनकी पार्टी भगवान राम और कृष्ण का सबूत मांग रही है। अब फिर दिल्ली की जनता जवाब देगी।

आप के संस्थापक सदस्य रहे कवि कुमार विश्वास ने भी मंत्री के ट्वीट पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने फेसबुक पर लिखा, सीमापुरी के ये विधायक आत्ममुग्ध.. के प्रिय मंत्री हैं! राम और कृष्ण के होने का देश से सबूत मांग रहे हैं! इनका कहना है कि राम और कृष्ण चूंकि इतिहास में नहीं पढ़ाए जाते, इसलिए उनका अस्तित्व ही नहीं है!

लगता है सत्ता की गर्मी दिमाग पर कुछ ज्यादा ही चढ़ गई है। खैर तुम्हारे आका ने हमारे लाख समझाने के बाद भी सेना से उसके शौर्य के सबूत मांगे थे, तो लोकसभा चुनाव में लोगों ने भरपूर दे भी दिए थे, अब तुमने राम और कृष्ण के होने के सबूत मांगे हैं, तो बस थोड़ी प्रतीक्षा करो विधानसभा-चुनाव में तुम्हें भी मिल जाएंगे।