ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने ‘बंजरभूमि एटलस- 2019’ का विमोचन किया
November 5, 2019 • Admin

 

 

 

केंद्रीय ग्रामीण विकास, कृषि और किसान कल्‍याण एवं पंचायती राज मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने 'बंजरभूमि एटलस- 2019' का विमोचन किया। भू संसाधन विभाग ने राष्‍ट्रीय सुदूर संवेदन केंद्र (एनआरएससी), अंतरिक्ष विभाग के सहयोग से भारत की बंजरभूमि एटलस-  2000, 2005, 2010 और 2011 संस्‍करणों का प्रकाशन किया है।

एनआरएससी द्वारा भारतीय दूरसंवेदी उपग्रह डेटा का उपयोग करते हुए बंजरभूमि का मानचित्रण 'बंजरभूमि एटलस- 2019' के पांचवें संस्‍करण के रूप में प्रकाशित किया गया है। भारत में विश्‍व के कुल क्षेत्रफल का 2.4 प्रतिशत है, जो विश्‍व की 18 प्रतिशत आबादी को सहारा देता है। भारत में प्रति व्‍यक्ति कृषि भूमि की उपलब्‍धता 0.12 हैक्‍टेयर है, जबकि विश्‍व प्रति व्‍यक्ति कृषि भूमि की उपलब्‍धता 0.29 हैक्‍टेयर है।

देश में भूमि पर उसकी वहन करने की क्षमता से ज्‍यादा पड़ रहे अभूतपूर्व दबाव के परिणामस्‍वरूप भूमि का अवकर्षण हो रहा है। इसलिए, बंजरभूमि के बारे में सुदृढ़ भूस्‍थानिक सूचना महत्‍वपूर्ण समझी जाती है और विविध भू विकास योजनाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से बंजरभूमि को उत्पादन संबंधी उपयोग में परिवर्तित करने में प्रभावी रूप से सहायता प्रदान करती है।

यह 'बंजरभूमि एटलस- 2019' जम्मू और कश्मीर के अब तक सर्वेक्षण नहीं किए गए 12.08 मिलियन हैक्‍टेयर क्षेत्र के मानचित्रण सहित बंजर भूमि की विभिन्न श्रेणियों के जिले और राज्यवार विभाजन प्रदान करती है। 2008-09 और 2015-16 के बीच बंजर भूमि में आए परिवर्तन एटलस में प्रस्तुत किए गए हैं। इस प्रयास के परिणामस्वरूप पूरे देश में बंजर भूमि की स्थानिक सीमा का आकलन संभव हो सका, जो वर्ष 2015-16 में 55.76 मिलियन हैक्‍टेयर (देश का 16.96% भौगोलिक क्षेत्र अर्थात 328.72 मिलियन हैक्‍टेयर) है, जो कि वर्ष 2008-09 में 56.60 मिलियन हैक्‍टेयर (17.21%) था।

इस अवधि के दौरान 1.45 मिलियन हैक्‍टेयर बंजर भूमि के गैर बंजर भूमि की श्रेणियों में परिवर्तित किया गया है। देश में 2008-09 से 2015-16 के दौरान देश में विभिन्न बंजर भूमि श्रेणियों का शुद्ध रूपांतरण 0.84 मिलियन हैक्‍टेयर (0.26%) रहा। बंजर भूमि में कमी घनी झाडि़यों, जलभराव और दलदली भूमि, रेतीले क्षेत्रों, अवकर्षित चरागाहों/चरागाह भूमि और/या बंजर भूमि की श्रेणियों में देखी गई।