ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
मानव संसाधन विकास मंत्री ने इंडिया गेट पर “केवीएस-एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” का उद्घाटन किया
November 2, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने दिल्ली में अनेकता में एकता तथा देशवासियों के बीच भावनात्मक बंधन के प्रसार तथा संरक्षण के लिए इंडिया गेट के लॉन नम्बर 6 पर चार दिवसीय सांस्कृतिक तथा साहित्यिक युवा मेगा इवेंट “केवीएस-एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” का उद्घाटन किया। मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री संजय शामराव धोत्रे समारोह के विशिष्ट अतिथि थे। इस अवसर पर सीबीएसई की अध्यक्ष अनिता कारवाल, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, केंद्रीय विद्यालय संगठन और नवोदय विद्यालय समिति के विशिष्टजन उपस्थित थे।

इस वर्ष 2375 प्रतिभागी मेगा इवेंट में हिस्सा ले रहे हैं। इस आयोजन की प्रमुख विशेषता यह है कि इसमें विभिन्न सांस्कृतिक पृष्ठभूमि वाले छात्र हिस्सा ले रहे हैं और अनेकता में एकता का भाव पूरी दुनिया में पेश कर रहे हैं।

निशंक ने केवीएस के सभी प्रतिभागियों की सराहना की और चार दिवसीय सांस्कृतिक तथा साहित्यिक युवा मेगा इवेंट “केवीएस-एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए उनको प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि “केवीएस-एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” में हिस्सा लेने का यह महान अवसर है और केवीएस  “एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” के सपने को पूरा करने में प्रमुख भूमिका निभा रहा है। उन्होंने सीबीएसई के आग्रह किया कि वह “एक भारत श्रेष्ठ भारत पर्व” को सीबीएसई से जुड़े देश के सभी स्कूलों में लागू करे।

मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री संजय शामराव धोत्रे ने भारत के पहले गृहमंत्री सरदार वलल्भ भाई पटेल को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने 560 रजवाड़ों को भारत संघ में जोड़ने में अह्म भूमिका निभाई है। केंद्रीय विद्यालय संगठन के आयुक्त संतोष कुमार मल ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि इस पर्व का उद्देश्य छात्रों को भारत के विभिन्न राज्यों की संस्कृतियों से परिचित कराना है।

मेगा इवेंट के पहले दिन 'शोभा यात्रा' निकाली गई, जिसमें गीत, नृत्य और कलाकृतियों का प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा विभिन्न राज्यों और देशों के समूह-नृत्य का कार्यक्रम भी पेश किया गया। क्विज, रचनात्मक लेखन, स्पेल-बी, पेंटिंग और एकल गान का भी आयोजन हुआ।

भारतीय संस्कृति और परम्परा को प्रमुखता से पेश करने के लिए 25 केवीएस क्षेत्रों के प्रतिभागी अपने गृह राज्य से भिन्न अन्य राज्य का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इसके जरिये एकता में अनेकता के भाव को मजबूत बनाना है। इस दृष्टि से विभिन्न खानपान, संगीत, नृत्य, थियेटर, दस्तकारी, खेल, साहित्य, चित्रकारी, मूर्तिकला इत्यादि भी इस मेगा इवेंट का हिस्सा हैं।