ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
नितिन गडकरी ने नुजेन मोबिलिटी सम्मेलन-2019 का उद्घाटन किया
November 27, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने हरियाणा के मानेसर में इंटरनेशनल सेंटर ऑफ ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी (आईसीएटी) में नुजेन मोबिलिटी सम्मेलन-2019 का उद्घाटन किया।

गडकरी ने वैकल्पिक ईंधन प्रणाली तथा ई-मोबिलिटी जैसे प्रासंगिक विषयों पर सम्मेलन के आयोजन के लिए आईसीएटी को बधाई दी। उन्होंने कृषि क्षेत्र को ऑटोमोबिल क्षेत्र से जोड़ने के महत्व को दोहराया और कहा कि जैव डीजल, कृषि तथा ऑटो इंडस्ट्री का भाग्य जीवाश्म ईंधनों पर निर्भरता घटाकर बदल सकती है। उन्होंने कहा कि जैव डीजल के लिए अखाद्य तेल के उत्पादन से देश के कृषि आधार को समर्थन दिया जा सकता है। उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार ऑटोमोटिव उद्योग को महत्वपूर्ण मानती है और कारगर नीतियों से उद्योग को समर्थन देना चाहती है।

तीन दिन का यह सम्मेलन ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी का सबसे बड़ा सम्मेलन है। इसमें भारत सहित 15 देशों के ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी के विशेषज्ञ 120 तकनीकी शोध पत्र प्रस्तुत करेंगे।

इस अवसर पर आईसीएटी के निदेशक दिनेश त्यागी ने कहा कि आईसीएटी द्वारा आयोजित किए जाने वाले सम्मेलनों की श्रृंखला में नुजेन मोबिलिटी सम्मेलन 2019 पहला है। दिनेश त्यागी ने कहा कि इससे देश में 125 वर्षों से उपयोग किए जाने वाले आईसी ईंजन का उचित विकल्प पाने में लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि वैश्विक आवश्यकताओं के अनुसार नये प्रौद्योगिकी समाधान विकसित करने पर फोकस है। नुजेन जेनरेशन मोबिलिटी, हरित, सुरक्षित तथा किफायती होगी। सम्मेलन के विषयों में ई-मोबिलिटी, हाइड्रोमोबिलिटी, कनेक्टेड व्हीकल तथा आईटीएस शामिल किए गए हैं। प्रदर्शनी में वाहन तथा उपकरण बनाने वाली दो सौ से अधिक कंपनियां अपने उत्पाद प्रस्तुत करेंगी।

      सम्मेलन में लाइव टेस्ट डिमॉन्सट्रेशन, प्रशिक्षण सत्र, पैनल, चर्चा तथा टेस्ट ट्रैक डिमॉन्सट्रेशन भी आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन में कनेक्टेड मोबिलिटी, ऑटोनॉमस व्हीकल्स, इलेक्ट्रीक मोबिलिटी, वैकल्पिक ईंधन, इंटेलिजेंट परिवहन प्रणालियों, हाइड्रोजन ईंधन सेल, हाइड्रोजन आईसी ईंजन जैसी भविष्य की वाहन टेक्नोलॉजी दिखाई जाएगी।

      इंटरनेशनल सेंटर ऑफ ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी, मानेसर एनएटीआरआईपी क्रियान्वयन सोसायटी (एनएटीआईएस) का प्रभाग है।