ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
प्रथम महिला पायलट नौसेना में शामिल
December 3, 2019 • Admin

 

 

 

एक महिला अधिकारी समेत 7वें डॉर्नियर कन्‍वर्जन कोर्स (डीओसीसी) के तीन प्रशिक्षु अधिकारियों का एक बैच डोर्नियर पायलटों के रूप में अर्हता प्राप्‍त की और उन्हें 02 दिसंबर, 2019 को आईएनएन गरुड़ में आयोजित एक समारोह में स्‍वर्ण "विंग्स" प्रदान किया गया। दक्षिणी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल ए.के. चावला, एवीएसएम, एनएम, वीएसएम इस समारोह के मुख्य अतिथि थे, जिन्होंने पासिंग ऑफिसर्स को "विंग्स" भेंट की, जो नौसेना के एविएटर के रूप में उनकी योग्यता को दर्शाता है।

मेरिट के समग्र क्रम में पहले स्थान पर रहने के लिए लेफ्टिनेंट शिवम पांडे को फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ साउथ रोलिंग ट्रॉफी प्रदान की गई। सब लेफ्टिनेंट (एसएलटी) शिवांगी ने कोर्स पास करके भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट के रूप में इतिहास रचा।

'विंग्स' का पुरस्कार कोच्चि में वायु सेना अकादमी (एएफए), डंडीगल और भारतीय नौसेना एयर स्क्वाड्रन (आईएनएएस) 550, आईएनएस गरुड़ में उड़ान प्रशिक्षण के एक वर्ष की समाप्ति का प्रतीक है। इसके बाद, एक ऑपरेशनल मैरीटाइम टोहीन स्क्वाड्रन 'कोर्स में शामिल होने से पहले, ये पायलट जनवरी 2020 के मध्य से आईएनएएस 550 में डॉर्नियर ऑपरेशनल फ्लाइंग ट्रेनिंग में शामिल होंगे।

बिहार के मुजफ्फरपुर की मूल निवासी सब-लेफ्टिनेंट शिवांगी को शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) –पायलट एंट्री स्कीम के तहत भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था, जो इंडियन नेवल एकेडमी, एझिमाला में 27वें नेवल ओरियंटेशन कोर्स (एनओसी) का हिस्सा था। उसे पिछले साल जून में नौसेना में शामिल किया गया था। उनके प्रशिक्षण के रूप में, सब-लेफ्टिनेंट शिवांगी ने पायलट पीसी7 एमके2, एएफए में बेसिक ट्रेनर और कोच्चि में भारतीय नौसेना के साथ डोर्नियर कनवर्जन पूरा किया। वह आईएनएएस गरुड़ 550 में प्रशिक्षण, आईएनएएस गरुड़ में डोर्नियर स्क्वाड्रन प्रशिक्षण जारी रखेगी। इसके बाद वह मैरीटाइम रिकोनाइसेंस (एमआर) विमान की सम्‍पूर्ण परिचालन पायलट बन जाएगी।