ALL TOP NEWS INDIA STATE POLITICAL CRIME NEWS ENTERTAINMENT SPORTS CONTACT US
सुभाष चौपड़ा के नेतृत्व में केन्द्र के खिलाफ कल से हल्ला बोल अभिया
November 15, 2019 • Admin

रिपोर्ट : अजीत कुमार

 

 

केन्द्र की भाजपा सरकार व दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ लगातार हमलावार दिल्ली कांग्रेस ने अपने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा आर्थिक मंदी, तालाबंदी, बेरोजगारी, भूख और बेकारी की पहचान बन चुकी  केन्द्र की भाजपा शासित एनडीए सरकार के खिलाफ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुभाष चौपड़ा के अगुवाई में 16 नवम्बर से पोल खोल अभियान शुरु करने का ऐलान किया है।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने एक बयान में जानकारी देते हुए बताया कि 25 नवम्बर तक यह अभियान कांग्रेस के सभी 14 जिलों में चलाया जाएगा। शर्मा ने यह भी बताया कि आक्रोश रैली के बाद मुख्य बाजारों में कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन भी करेंगे।

अभियान के पहले चरण में आर.के. पुरम में कांग्रेस आक्रोश रैली करेगी। चौपड़ा के अलावा पूर्व केन्द्रीय मंत्री अजय माकन, पूर्व मंत्री डा. नरेन्द्र नाथ सहित दिल्ली कांग्रेस के अनेक वरिष्ठ नेता इस रैली को सम्बोधित करेंगे। रैली की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष एडवोकेट विरेन्द्र कसाना करेंगे।

सुभाष चौपड़ा व मुकेश शर्मा ने कहा कि आज भारत की राजधानी दिल्ली बेरोजगारी की समस्या से अछूती नही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग जीएसटी की दरों से परेशान है, वही दूसरी ओर मोदी सरकार की नोटबंदी ने छोटे व मझोले दुकानदारों व कारखानेदारों को भुखमरी की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था न केवल पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गई है। बल्कि सच तो यह है कि देश 72 साल में सबसे ज्यादा मंदी के दौर से गुजर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि देश दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यस्था के 5 पायदान से नीचे खिसककर 7वे पायदान पर पहुॅच गया है। मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण इसके उपर जाने की कोई संभावना भी नही है।

मुकेश शर्मा ने दिल्ली के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं व जनता से अपील की है कि वो आर्थिक मंदी के खिलाफ चलाए जा रहे कांग्रेस के पोल खोल अभियान में भारी से भारी संख्या में शामिल होकर आर्थिक मंदी के लिए जिम्मेदार भाजपा की केन्द्र सरकार के खिलाफ अपना आक्रोश दर्ज कराऐ। शर्मा ने कहा कि वार्ड स्तर पर सभी कार्यकर्ताओं को इन रैलियों में आम जनता के साथ शामिल होने का आग्रह किया गया है। बड़े पैमाने पर पोल खोल अभियान को कामयाब बनाने के लिए कार्यकर्ता दिन रात एक किए हुए है।